जाने माँ दुर्गा पूजन विधि हवन एवं पाठ || Durga Puja Vidhi || Navratri Havan Vidhi || Durga Puja

Durga Puja Vidhi

0
490
Durga Puja Vidhi
Durga Puja 2019

माँ दुर्गा पूजन विधि हवन एवं पाठ

दुर्गा पूजन विधी एक सरल विधि है लेकिन इसे धार्मिक रूप से पालन करने की आवश्यकता है। और सबसे ज्यादा जरूरत है हमें अपने आप को साफ़ सुथरा रखना क्यूंकि बहुत पुरानी कहावत है की जहां साफ़ सफाई होती है भागवान का वास वहीं होता है, इसलिए सफाई का विशेष ध्यान रखे आईये आगे जानते है पूजा के दिन निम्न बातो  का पालन करना चाहिए –

  • व्यक्ति को सुबह जल्दी स्नान करना चाहिए और दुर्गा पूजन के दिन लाल वस्त्र पहनना चाहिए।
  • माँ दुर्गा पूजा के दिन माता का स्मरण करते हुए अच्छे कर्म करने और सभी को आशीर्वाद देने की प्रार्थना करते हुए व्रत करना चाहिए।
  • उसके बाद एक दीया,कुछ जौस की छड़ें और फूलों की वर्षा करें और माँ दुर्गा की मूर्ति पर रोली चढ़ाएं।
  • उसके बाद एक बर्तन में साफ़ ताज़ा जल भरकर माँ दुर्गे के दाहिनी ओर रखें।
  • उसके बाद अपनी आंखे बंद करके ध्यान लगाकर मंत्रों का जाप करें और माँ दुर्गा से प्रार्थना करें।
  • मंत्र जाप करने के बाद माँ दुर्गा को मिठाई चढ़ाएं। मिठाई न होने पर आप जिस फल का मोसम है वह फल भी चडा सकते हैं।
  • दुर्गा माता को नारियल चढ़ाएं।
  • दुर्गा माँ की आरती के बाद दुर्गा चालीसा पढ़ें।
  • उसके बाद फिर से कुछ फूल चढ़ाएं और हाथ जोड़कर प्रार्थना करें और जो दिल से मांगना चाहते हो मांगो माता रानी आपकी मुराद जरुर पूरी करेगी.
  • अंत में देवी दुर्गा को अर्पित बच्चों को प्रसाद वितरित करें।

अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए माँ दुर्गा के आगे इस मंत्र का जाप करे:

अंत में माता से क्षमा याचना करना चाहिए।                                                                                        साथ ही एक मंत्र सभी मनोकामनाएं पूरी करने के लिए जरुर जाप करे


देहि सौभाग्य मारोग्यम देही में परमम सुखम
रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि।


इस मंत्र में सभी मनोकामनाएं शामिल हैं। सौभाग्य, आरोग्य, जय, विजय और  अंतः दोषों का शमन। इस मंत्र से अपनी सभी मनोकामना दुर्गा माता से आप कह कर  वरदान प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रकार हम निर्मल भक्ति भाव और आसान विधिओ से माँ दुर्गा को प्रसन्न कर सकते हैं।

दुर्गा पूजा विधि के लिए सबसे जरुरी जानने योग्य बात :

एक बात बहुत महत्वपूर्ण है, वह यह है दुर्गा माँ की आरती। यदि हम पूजा में कोई गलती कर देते हैं या मन्त्र के उच्चारण में कोई गलती हो जाय तो आरती इन सब भूलों को माफ करती है। आरती भव्य होनी चाहिए। आरती के थाल धर्म के अनुसार सभी आवश्यक सामान से सजे हों। साथ ही ध्‍यान रखें की धूप बत्ती जल रही हो और कपूर की ही आरती हो।

दोस्तों ये थी माँ दुर्गा पूजा की पूजन विधि और माँ दुर्गा को खुश करने का मंत्र जाप और माँ दुर्गा पूजन के दोरान हमें किन – किन बातो का ध्यान रखना चाहिए, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आती है तो दोस्तों शेयर जरुर करे पोस्ट को ताकि सभी लोगो के पास पोस्ट आसानी से पहुँच जाये,

हमें पूरा विश्वास है दोस्तों अगर आप इस विधि से माँ दुर्गा की पूजा करते है तो माँ दुर्गा आपकी हर मनोकामना जरुर पूरी करेंगी पोस्ट कैसी लगी दोस्तों निचे कमेंट करके जरुर बताए धन्यवाद, Jai Mata Di, Happy Durga Puja

माँ दुर्गा जी की आरती

माँ दुर्गा जी की चालीसा हिंदी में

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here